क्या कहें….

क्या कहे आपसे ये दुनिया की बातें,

हर मोड़ पर है ज़िन्दगी, हर चौराहे पर हैं ख्वाहिशें,

कुछ उलझी हुई कुछ सुलझी हुई सी हैं यहाँ सबकी रातें,

कही अनकही बातों का तानाबाना है,

और शब्दों की शाख़ पर बैठा उम्मीदों का परिंदा है,

रस्म रिवाज़ की देहलीज़ से परे भी सपनों का एक जहाँ है,

हवाओं मे लिपटी अपेक्षाओं का एक कारवां है,

हाँ आप भी वही हैं , हम भी वही हैं,

दुनिया से हम हैं और हमसे दुनिया है।

#इनक्रेडिबल पाई

#IncrediblePie

तुम अगर साथ हो…..

तुम अगर साथ हो तो मेरे विश्वास मे बल है,

तुम अगर साथ हो मेरी ज़िन्दगी मे मकसद है,

तुम अगर साथ हो तो मेरे कल्पनाओं मे उड़ान है,

तुम अगर साथ हो तो मेरे भावनाओं में एहसास है,

तुम अगर साथ हो तो हर ग़म में प्रोत्साहन है,

तुम अगर साथ हो तो हर खुशी में एक नया विश्वास है,

तुम अगर साथ हो तो हम हैं, 

तुम अगर साथ हो तो हमारी दुनिया है।

                                     – विवेक वत्सल

#इनक्रेडिबलपाई